जीवन बदलने वाली कहानी…

 जीवन बदलने वाली  कहानी

जीवन बदलने वाली  कहानी
जीवन बदलने वाली कहानी

पिता और पुत्र साथ-साथ टहलने निकले,वे दूर खेतों 🌾🌿की तरफ निकल आये, तभी पुत्र 👱 ने देखा कि रास्ते में, पुराने हो चुके एक जोड़ी जूते 👞👟🥾उतरे पड़े हैं, जो …संभवतः पास के खेत में काम कर रहे गरीब मजदूर 👳‍♀ के थे.

पुत्र को मजाक 🧐सूझा. उसने पिता से कहा  क्यों न आज की शाम को थोड़ी शरारत से यादगार 😃 बनायें,आखिर … मस्ती ही तो आनन्द का सही स्रोत है. पिता ने असमंजस से बेटे की ओर देखा.🤨

पुत्र बोला ~ हम ये जूते👞👟🥾 कहीं छुपा कर झाड़ियों🌲 के पीछे छुप जाएं.जब वो मजदूर इन्हें यहाँ नहीं पाकर घबराएगा तो बड़ा मजा😂 आएगा.उसकी तलब देखने लायक होगी, और इसका आनन्द  ☺️मैं जीवन भर याद रखूंगा.

पिता, पुत्र की बात को सुन  गम्भीर 🤫हुये और बोले ” बेटा ! किसी गरीब और कमजोर के साथ उसकी जरूरत की वस्तु के साथ इस तरह का भद्दा मजाक कभी न करना ❌. जिन चीजों की तुम्हारी नजरों में कोई कीमत नहीं,वो उस गरीब के लिये बेशकीमती हैं. तुम्हें ये शाम यादगार ही बनानी है,✅

 तो आओ .. आज हम इन जूतों👞👟🥾 में कुछ सिक्के  💰💷डाल दें और छुप कर 👀 देखें कि … इसका मजदूर👳‍♀ पर क्या प्रभाव पड़ता है.पिता ने ऐसा ही किया और दोनों पास की ऊँची झाड़ियों  🌲🌿में छुप गए.

मजदूर 👳‍♀ जल्द ही अपना काम ख़त्म कर जूतों 👞👟🥾की जगह पर आ गया. उसने जैसे ही एक पैर 👢 जूते में डाले उसे किसी कठोर चीज का आभास हुआ 😲, उसने जल्दी से जूते हाथ में लिए और देखा कि …अन्दर कुछ सिक्के 💰💷 पड़े थे.

उसे बड़ा आश्चर्य हुआ और वो सिक्के हाथ में लेकर बड़े गौर से  🧐उन्हें देखने लगा.फिर वह इधर-उधर देखने लगा कि उसका मददगार 🤝शख्स कौन है ?

दूर-दूर तक कोई नज़र👀 नहीं आया, तो उसने सिक्के अपनी जेब में डाल लिए. अब उसने दूसरा जूता उठाया,  उसमें भी सिक्के पड़े थे.

मजदूर भाव विभोर  ☺️हो गया.

वो घुटनो के बल जमीन पर बैठ …आसमान की तरफ देख फूट-फूट कर रोने लगा 😭. वह हाथ जोड़ 🙏 बोला 

हे भगवान् 🙏 ! आज आप ही ☝️ किसी रूप में यहाँ आये थे, समय पर प्राप्त इस सहायता के लिए आपका और आपके  माध्यम से जिसने भी ये मदद दी,उसका लाख-लाख धन्यवाद 🙌🙏.आपकी सहायता और दयालुता के कारण आज मेरी बीमार पत्नी 🤒🤧🤕को दवा और भूखे बच्चों 👦को रोटी🍜🥪 मिल सकेगी.तुम बहुत दयालु हो प्रभु ! आपका कोटि-कोटि धन्यवाद.🙏☺️

मजदूर की बातें सुन … बेटे की आँखें 👁भर आयीं.😥😩

पिता 👨‍🦳ने पुत्र👱 को सीने से लगाते हुयेे कहा क्या तुम्हारी मजाक मजे वाली बात से जो आनन्द तुम्हें जीवन भर याद रहता उसकी तुलना में इस गरीब के आँसू😢 और  दिए हुये आशीर्वाद🤚 तुम्हें जीवन पर्यंत जो आनन्द देंगे वो उससे कम है, क्या ❓

बेटे ने कहा पिताजी .. आज आपसे मुझे जो सीखने ✍🙇 को मिला है, उसके आनंद ☺️ को मैं अपने अंदर तक अनुभव कर रहा हूँ. अंदर में एक अजीब सा सुकून☺️ है.

आज के प्राप्त सुख 🤗और आनन्द को मैं जीवन भर नहीं भूलूँगा. आज मैं उन शब्दों का मतलब समझ गया जिन्हें मैं पहले कभी नहीं समझ पाया था.आज तक मैं मजा और मस्ती-मजाक को ही वास्तविक आनन्द समझता था, पर आज मैं समझ गया हूँ कि लेने की अपेक्षा देना कहीं अधिक आनंददायी है। ✅


life changing story

Father and son went for a walk together, they came out towards the distant fields, when the son saw that on the way, a pair of old shoes had come off, which … probably poor laborers working in the nearby field. were of.

The son got a joke. He said to the father, why not make this evening memorable with a little mischief, after all… fun is the right source of joy. The father looked at the son confusedly.

The son said ~ We should hide these shoes somewhere and hide behind the bushes. When that laborer is scared to not find them here, then it will be fun.

The father, listening to the son’s words, became serious and said, “Son! Never make such lewd jokes with a poor and weak person with the thing he needs. The things which have no value in your eyes, are for that poor.” You have to make this evening memorable.

So come .. today we put some coins in these shoes and see what effect it has on the labourer.

The laborer soon finished his work and came to the place of shoes. As soon as he put one foot in the shoe, he felt something hard, he quickly took the shoe in his hand and saw that there were some coins lying inside.

He was very surprised and took the coins in his hand and started looking at them very carefully. Then he started looking around to see who is his helper?

No one could see far and wide, so he put the coins in his pocket. Now he picked up the second shoe, there were coins in it too.

The laborer became overwhelmed.

He sat on the ground on his knees … looking at the sky, started crying bitterly. he said with folded hands

Oh my god! Today you came here in some form, thanks to you and whoever gave this help through you for this timely help. Due to your help and kindness, today medicine is given to my sick wife and hungry children. Bread will be available. You are very kind Lord! Thank you very much.

Hearing the words of the laborer… the son’s eyes filled with tears.

The father hugged the son and said, is the joy of this poor man’s tears and blessings less than the joy that you will remember for a lifetime, is it less than that which you will have for the rest of your life.

The son said father.. I am feeling the joy of what I have learned from you today. There is a strange peace inside.

I will never forget the happiness and joy that I got today. Today I understood the meaning of those words which I never understood before. Till today I used to think of fun and joking as the real joy, but today I understand that giving is much more enjoyable than receiving.

2 thoughts on “जीवन बदलने वाली कहानी…”

Leave a Comment

error: Content is protected !!