ये कहानियाँ आपको सफल बना सकती है 3 Best Motivational Story in Hindi

दोस्तों नमस्कार आप सभी का स्वागत है आज मैं आपको एक ऐसी motivational stories बता रहा हु जिसे पढ़ने के बाद आपकी ऊर्जा पहले जैसी नही रहेगी तो चलिए बिना आपका समय गवाये motivational story को शुरू करते है …

ये कहानियाँ आपको सफल बना सकती है 3 Best Motivational Story in Hindi
ये कहानियाँ आपको सफल बना सकती है 3 Best Motivational Story in Hindi
 
ये कहानियाँ आपको सफल बना सकती है 3 Best Motivational Story in Hindi
ये कहानियाँ आपको सफल बना सकती है 3 Best Motivational Story in Hindi

short motivational hindi stories with moral

ये कहानियाँ आपको सफल बना सकती है 3 Best Motivational Story in Hindi

किसी ने मुझसे पूछा motivational story पढ़ने से क्या होता है  मेने जवाब दिया motivational story पढ़ने से  हमे दुसरो की गलतियों का पता चलता है ताकि हम गलती ना करे इसलिए ज्यादा से ज्यादा motivational story को पढ़िए…

1. हार गया लेकिन खुद से जीत गया

हरीश नाम का एक लड़का था उसको दौड़ने का बहुत शौक था वह कई मैराथन में हिस्सा ले चुका था परंतु वह किसी भी race को पूरा नही करता था एक दिन उसने ठान लिया कि चाहे कुछ भी हो जाये वह race पूरी जरूर करेगा अब रेस शुरू हुई…

हरीश ने भी दौड़ना शुरू किया धीरे 2 सारे धावक आगे निकल रहे थे मगर अब हरीश थक गया था वह रुक गया.


फिर उसने खुद से बोला अगर मैं दौड़ नही सकता तो कम से कम चल तो सकता हु उसने ऐसा ही किया वह धीरे – 2 चलने लगा मगर वह आगे जरूर बढ़ रहा था अब वह बहुत ज्यादा थक  गया था और नीचे गिर पड़ा उसने खुद को बोला की वह कैसे भी करके आज दौड़ को पूरी जरूर करेगा वह जिद करके वापस उठा लड़खड़ाते हुए आगे बढ़ने लगा और अंततः वह रेस पूरी कर गया माना कि वह रेस हार चुका था लेकिन आज उसका विश्वास चरम पर था क्योंकि आज से पहले race को कभी पूरा ही नही कर पाया था वह जमीन पर पड़ा हुआ था क्योंकि उसके पैरों की मांसपेशियों में बहुत खिंचाव हो चुका था लेकिन आज वह बहुत खुश था क्योंकि आज वह हार कर भी जीता था

दोस्तों हम भी तो इस तरह की गलती करते है हमारी life में कभी भी अगर कोई परेशानी होती है तो उस काम को नही करते और छोड़ देते है अगर आप एक student हो और रोज 10 hr की study करते हो और किसी दिन कोई परेशानी की वजह से आप पढ़ाई नही करते मगर आपको भले ही 5 hr मिले पढ़ना जरूर चाहिए हरीश की कहानी से हमे यही सीखने को मिलता है कि अगर हम लगातार आगे बढ़ते रहे तो एक दिन हम हारकर भी जीत जाएंगे.


छोटे छोटे कदम बढ़ाते जाओ और आगे बढ़ते जाओ यही सफलता का नियम है अगर आपको भी ये motivational story अच्छी लगी हो तो comment के माध्यम से हमे जरूर बताएं अगर आप और भी motivational story को पढ़ना चाहते हो तो  आप बिलकुल सही जगह हो यहां  पर आपको काफी सारी motivational stories का संग्रह मिलेगा जो आपको जीवन मेआगे बढ़ने की प्रेरणा देगा

 

2.परिस्थितियों को दोष देना

काफी समय पहले की बात है दोस्तों एक आदमी रेगिस्तान में फंस गया था वह मन ही मन अपने आप को बोल रहा था कि यह कितनी अच्छी और सुंदर जगह है अगर यहां पर पानी होता तो यहां पर कितने अच्छे-अच्छे पेड़ उग रहे होते और यहां पर कितने लोग घूमने आना चाहते होंगे मतलब ब्लेम कर रहा था कि यह होता तो वो होता  और वो होता  तो शायद ऐसा होता ऊपरवाला देख रहा था अब उस इंसान ने सोचा यहां पर पानी नहीं दिख रहा है उसको थोड़ी देर आगे जाने के बाद उसको एक कुआं दिखाई दिया जो कि पानी से लबालब भरा हुआ था काफी देर तक विचार-विमर्श करता रहा खुद से फिर बाद उसको वहां पर एक रस्सी और बाल्टी  दिखाई दी .

 

इसके बाद कहीं से एक पर्ची उड़ के आती है जिस पर्ची में लिखा हुआ था कि तुमने कहा था कि यहां पर पानी का कोई स्त्रोत  नहीं है अब तुम्हारे पास पानी का स्रोत भी है अगर तुम चाहते हो तो यहां पर पौधे लगा सकते हो वह चला गया दोस्तों तो यह कहानी हमें क्या सिखाती है यह कहानी हमें यह सिखाती है कि अगर आप परिस्थितियों को दोष देना चाहते हो कोई दिक्कत नहीं है लेकिन आप परिस्थितियों को दोष देते हो कि अगर यहां पर ऐसा  हो और आपको वह सोर्सेस मिल जाए तो क्या परिस्थिति को बदल सकते हो…


 इस कहानी में तो यही लगता है कि कुछ लोग सिर्फ परिस्थिति को दोष देना जानते हैं अगर उनके पास उपयुक्त स्रोत हो तो वह परिस्थिति को नहीं बदल सकते सिर्फ वह ब्लेम करना जानते हैं लेकिन हमे ऐसा  नहीं बनना है दोस्तों इस कहानी से यह शिक्षा मिलती है कि अगर आप चाहते हो कि परिस्थितियां बदले और आपको अगर उसके लिए उपयुक्त साधन मिल जाए तो आप अपना एक परसेंट योगदान तो दे ही सकते हैं और मुझे पूरा भरोसा है कि अगर  आपके साथ ऐसी कोई घटना घटित होती है आप अपना योगदान जरूर देंगे.

3. ईमानदारी का फल best hindi motivation story

काफी समय  पहले की बात है प्रतापगढ़ नाम का एक राज्य था वहाँ का राजा बहुत अच्छा था मगर राजा को एक सुख नही था वह यह कि उसके कोई भी संतान नही थी और वह चाहता था कि अब वह राज्य के अंदर किसी योग्य बच्चे को गोद ले ताकि वह उसका उत्तराधिकारी बन सके और आगे की बागडोर को सुचारू रूप से चला सके और इसी को देखते हुए राजा ने राज्य में घोषणा करवा दी की सभी बच्चे राजमहल में एकत्रित हो जाये ऐसा ही हुआ राजा ने सभी बच्चो को पौधे लगाने के लिए भिन्न भिन्न प्रकार के बीज दिए और कहा कि अब हम 6 महीने बाद मिलेंगे और देखेंगे कि किसका पौधा सबसे अच्छा होगा महीना बीत जाने के बाद भी एक बच्चा ऐसा था जिसके गमले में वह बीज अभी तक नही फूटा था लेकिन वह रोज उसकी देखभाल करता था और रोज पौधे को पानी देता था देखते ही देखते 3 महीने बीत गए बच्चा परेशान हो गया …
तभी उसकी माँ ने कहा कि बेटा धैर्य रखो कुछ बीजो को फलने में ज्यादा वक्त लगता है और वह पौधे को सींचता रहा 6 महीने हो गए राजा के पास जाने का समय आ चुका था लेकिन वह डर हुआ था कि सभी बच्चो के गमलो में तो पौधे होंगे और उसका गमला खाली होगा लेकिन वह बच्चा ईमानदार था और सारे बच्चे राजमहल में आ चुके थे…
कुछ बच्चे जोश से भरे हुए थे क्योंकि उनके अंदर राज्य का उत्तराधिकारी बनने की प्रबल लालसा थी अब राजा ने आदेश दिया सभी बच्चे अपने अपने गमले दिखाने लगे मगर एक बच्चा सहमा हुआ था क्योंकि उसका गमला खाली था तभी राजा की नजर उस गमले पर गयी उसने पूछा तुम्हारा गमला तो खाली है तो उसने कहा लेकिन मैंने इस गमले की 6 महीने तक देखभाल की है …
राजा उसकी ईमानदारी से खुश था कि उसका गमला खाली है फिर भी वह हिम्मत करके यहाँ आ तो गया सभी बच्चों के गमले देखने के बाद राजा ने उस बच्चे को सभी के सामने बुलाया बच्चा सहम गया और राजा ने वह गमला सभी को दिखाया सभी बच्चे जोर से हसने लगे राजा ने कहा शांत हो जाइये इतने खुश मत होइए आप सभी के पास जो पौधे है वो स.ब बंजर है आप चाहे कितनी भी मेहनत कर ले उनसे कुछ नही निकलेगा लेकिन असली बीज यही था राजा उसकी ईमानदारी से बेहद खुश हुआ और उस बच्चे को राज्य का उत्तराधिकारी बना दिया गया.


लेकिन हमें इस कहानी से क्या सीखने को मिला मेरे हिसाब से अपने अंदर ईमानदारी का होना बहुत जरूरी है अगर हम खुद के साथ ईमानदार है तो जीवन के किसी न किसी पड़ाव में सफल हो ही जाएंगे क्योंकि हमारी औकात हमे ही पता होती है हम खुद को पागल बनाकर खुद का ही नुकसान करते है

❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤

::- Translate In English -::
 
ये कहानियाँ आपको सफल बना सकती है 3 Best Motivational Story in Hindi
ये कहानियाँ आपको सफल बना सकती है 3 Best Motivational Story in Hindi

1. lost but won by himself

There was a boy named Harish, he was very fond of running , he had participated in many marathons , but he did not complete any race. One day he decided that he will definitely finish the race no matter what happens. Now the race started …
Harish also started running, slowly all the 2 runners were coming forward, but now Harish was tired, he stopped


then he said to himself if I can’t run then at least I can walk, he did it, he started walking slowly . But he was definitely moving forward, now he was very tired and fell down. He told himself that how he will do the race today, he stubbornly got back and started moving forward and finally he finished the race. Admittedly, he had lost the race but today his confidence was at its peak because before todayHe had never been able to complete the race, he was lying on the ground because his leg muscles were very stretched but today he was very happy because today he also won by losing.

Friends, we too make such a mistake, if there is any problem in our life, then do not do that work and leave it if you are a student and study for 10 hr every day and the reason of any problem on any day. do you not study but you may 5 hr after reading must get to learn that we Harish story that we are moving ahead one day we lost will also win


small go a step further grow this The rule of success is if you too like this motivational storyTell us through the comment, if you want to read a more motivational story, then  you are in the right place, here you will get a collection of motivational stories that will inspire you to grow in life.

2. Blaming situations

It was a long time ago, friends, that a man was trapped in the desert, he was speaking to himself that such a beautiful and beautiful place, if there were water here, then how many good trees would have been growing here and here But how many people would want to come to visit, it was blaming that it would have happened and it would have been so it was looking upward now that person thought that there is no water here but after going ahead for a while, appeared well that the water overflowing discussed for a long time was filled stayed by myself after him after it appeared a rope and bucket there comes a slip fly anywhere was written in the slip that you It was said that there is no source of water here, now you also have a source of water if you want, then the plants hereYou can think that he is gone, so what this story teaches us, this story teaches us that if you want to blame the circumstances , there is no problem, but you blame the circumstances that if this happens here and you get that sources If found, can you change the situation…


 In this story, it seems that some people only know to blame the situation, if they have a suitable source, they cannot change the situation, only they know how to blem but we do not want to be like this, friends, this story gives this lesson. That if you want the circumstances to change and if you find the appropriate means for that, then you can give your one percent contribution and I am sure that if any such incident happens with you, you will definitely give your contribution.

3. The fruit of honesty best hindi motivation story

It was a long time ago that there was a kingdom called Pratapgad where the king was very good but the king did not have a pleasure, that he had no children and he wanted to adopt an eligible child inside the state. So that he can become his successor and run the reins smoothly and in view of this, the king made a declaration in the state that all the children should be gathered in the palace . This is what happened to the king to plant saplings for different children. Gave kinds of seeds and said that now we will meet after 6 months and see whose plant will be the best, even after the month has passed, there was a child in whose pot that seed was not yet burnt , but that dailyUsed to take care and water the plant every day, after seeing it, after 3 months the child got upset


Then his mother said that the son be patient, some seeds take longer to flourish and he has been irrigating the plant. It has been 6 months since the time had come for the king to go, but he was afraid that all the children had plants in the flowerpot. Will and her flowerpot would be empty but that child was honest and all the children had come to the palace
Some children were full of zeal because they had a strong desire to inherit the kingdom. Now the king ordered all the children to have their pots. Started showing but a child was scared because his flower was empty, then the king’s eyes went to that pot, he asked if your flower is empty then he said but I have taken care of this pot for 6 months… the

king is sincerely happy Was that his flowerpot is empty yet heDared to come here, after seeing the pots of all the children, the king called that child in front of everyone, the child was stunned and the king showed that flower to all. All the children started laughing loudly. The king said, calm down, do not be so happy. The plant that everyone has is barren , no matter how hard you try, nothing will come out of them, but this was the real seed, the king was very happy with his honesty and that child was made the heir of the kingdom.

But what we got to learn from this story, according to me , it is very important to have honesty within ourselves, if we are honest with ourselves, then we will be successful in some stage of our life because we know ourselves. They harm themselves by making them mad.

Leave a Comment

error: Content is protected !!