कहीं आपके लैपटॉप का वेबकैम हैक तो नहीं हो रहा !

वेबकैम का क्या मतलब है?

एक वेब कैमरा एक छोटा डिजिटल वीडियो कैमरा है जो सीधे या परोक्ष रूप से कंप्यूटर या कंप्यूटर नेटवर्क से जुड़ा होता है।

वेबकैम सॉफ्टवेयर के साथ आता है जिसे उपयोगकर्ताओं को वीडियो रिकॉर्ड करने या इसे वेब से स्ट्रीम करने में मदद करने के लिए कंप्यूटर पर स्थापित करने की आवश्यकता होती है। वेबकैम तस्वीरें लेने के साथ-साथ हाई-डेफिनिशन वीडियो लेने में सक्षम हैं, हालांकि अन्य कैमरा मॉडल की तुलना में वीडियो की गुणवत्ता कम हो सकती है।

वेबकैम को वेब कैमरा के रूप में भी जाना जाता है।

वेबकैम की व्याख्या :

वेबकैम एक इनपुट डिवाइस है जो डिजिटल छवियों को कैप्चर करता है। इन्हें कंप्यूटर में स्थानांतरित कर दिया जाता है, जो उन्हें एक सर्वर पर ले जाता है। वहां से, उन्हें होस्टिंग पेज पर भेजा जा सकता है। लैपटॉप और डेस्कटॉप अक्सर वेबकैम से लैस होते हैं।

वेबकैम विशेषताओं में शामिल हैं:

  • कैमरे के अन्य मॉडलों की तुलना में, वेबकैम लागत में काफी कम हैं, विशेष रूप से एक वीडियो टेलीफोनी परिप्रेक्ष्य से।
  • अधिकांश हैंडहेल्ड कैमरों की तुलना में, Webcam का अधिकतम resolution कम होता है।

एक वेबकैम की विशेषताएं काफी हद तक कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ-साथ उपयोग किए जा रहे कंप्यूटर प्रोसेसर पर निर्भर करती हैं। वेबकैम में मोशन सेंसिंग, इमेज आर्काइविंग, ऑटोमेशन या कस्टम कोडिंग जैसी अतिरिक्त सुविधाएं हो सकती हैं।

वेबकैम का उपयोग ज्यादातर वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग और सुरक्षा निगरानी के लिए किया जाता है। अन्य उपयोगों में वीडियो प्रसारण, सामाजिक वीडियो रिकॉर्डिंग और कंप्यूटर दृष्टि शामिल हैं।


वेबकैम हैक्ड !! यह पता लगाने के लिए तरीके

वेबकैम सबसे अहम कम्प्यूटर एक्सेसरीज में शुमार है और इसे कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है। यह निजता पर हमले के लिए सबसे गंभीर खतरों में से एक है। यदि कोई हैकर आपके वेबकैम का एक्सेस हासिल कर लेता है तो इससे आपकी जासूसी हो सकती है। क्या आपका वेबकैम हैक्ड है, यह पता लगाने के लिए ये तरीके आजमाए जा सकते हैं-

वेबकैम हैक
वेबकैम हैक

अज्ञात ऐप्स की जांच करें (check unknown apps)

कई बार वेबकैम किसी ऐसे एप्लिकेशन के हिस्से के रूप में चल रहा हो सकता है, जिसे आप नहीं जानते हैं। यह आमतौर पर तब होता है जब आप कोई वायरस या मैलवेयर डाउनलोड करते हैं और यह आपके वेबकैम को अपने कब्जे में ले लेता है। इसे जांचने के लिए आप वेबकैम ओपन करें। यदि संदेश आए कि यह पहले से इस्तेमाल हो रहा है तो आप समझ लें कि यह किसी एप्लिकेशन से जुड़कर चल रहा है। इसका ध्यान रखें।

वेबकैम की सुरक्षा सैटिंग्स जांचें (Check the security settings of the webcam)

जांचें कि क्या आपके कैमरे की सुरक्षा सैटिंग्स बदली गई हैं। यदि ऐसा है तो सबसे पहले इसे डिफॉल्ट पर सैट करें और उसके बाद कोई मैलवेयर स्केनर चलाएं। इससे आपको उस रिमोट एप्लिकेशन से निजात मिल सकती है, जिसकी मदद से हैकर आपके वेबकैम तक पहुंच बना रहा होगा।

वेबकैम इंडिकेटर देखें (View webcam indicator)

लेंस के पास लाल, हरी या नीली इंडिकेटर लाइट बताती है कि आपका वेबकैम वर्तमान में वीडियो रिकॉर्ड कर रहा है या नहीं। इसका मतलब है कि जब वेबकैम का उपयोग नहीं कर रहे हों तो लाइट बंद होनी चाहिए। यदि आप लाइट को चमकते हुए देखते हैं तो इसका अर्थ है कि कोई आपके वेबकैम तक पहुंच रहा है। कई बार कोई खास एप्लिकेशन खोलने पर भी वेबकैम इंडीकेटर चालू हो सकता है। इसलिए सतर्क रहें।

स्टोरेज फाइलों को जांचें (check storage files)

यदि कोई आपके कैमरे का उपयोग फुटेज रिकॉर्ड के लिए कर रहा है तो आपके सिस्टम में ही ये फाइल्स स्टोर हो रही होंगी। वेबकैम रिकॉर्डिंग फोल्डर खोलें। जिन फाइलों को आपने सेव नहीं किया है, वे हैकर्स से जुड़ी हो सकती हैं। ऐसे में जांच लें कि वेबकैम रिकॉर्डिंग फाइल्स कहां सेव हो रही हैं।


Leave a Comment

error: Content is protected !!