विज्ञान पर निबंध : vigyaan par nibandh

आज हम विज्ञान पर निबंध पढ़ेंगे । आज का युग विज्ञान का युग है। आज हर जगह सिर्फ विज्ञान का ही बोलबाला है। पेन से लेकर लैपटॉप तक सब कुछ विज्ञान की देन है। आज हम सौ प्रतिशत विज्ञान पर निर्भर हैं। नए-नए वैज्ञानिक आविष्कारों को देखते हुए यह इतना प्रमुख और महत्वपूर्ण विषय बन गया है कि जिस दिन यह परीक्षाओं में जैसे निबंध आदि पूछे जाते हैं।

विज्ञान पर लघु और लंबा निबंध

विज्ञान पर निबंध : vigyaan par nibandh
विज्ञान पर निबंध : vigyaan par nibandh 9

यहाँ मैंने विज्ञान के अजूबों पर छोटे और बड़े निबंध दिए हैं जो आपके अध्ययन में उपयोगी साबित हो सकते हैं:

निबंध 1 (300 शब्द) – दैनिक जीवन में विज्ञान

प्रस्तावना

जब हम पीछे मुड़कर देखते हैं तो देखते हैं कि विज्ञान की दुनिया में कितनी प्रगति हुई है। दुनिया गैजेट्स और मशीनरी से भरी हुई है। हमारे परिवेश में सब कुछ मशीनरी करती है। यह कैसे संभव हुआ? हम इतने आधुनिक कैसे हो गए? यह सब विज्ञान की सहायता से ही संभव हो सका है। विज्ञान ने हमारे समाज के विकास में एक प्रमुख भूमिका निभाई है। इसके अलावा, विज्ञान ने हमारे जीवन को आसान और आलसी बना दिया है।

दैनिक जीवन में विज्ञान

विज्ञान ने हमारे जीवन में कई बदलाव लाए हैं। सबसे पहले, परिवहन अब आसान है। विज्ञान की मदद से लंबी दूरी की यात्रा अब आसान हो गई है। इसके अलावा, यात्रा का समय भी कम हो जाता है। इन दिनों विभिन्न उच्च गति वाले वाहन उपलब्ध हैं। इन वाहनों ने हमारे समाज का चेहरा पूरी तरह से बदल कर रख दिया है। विज्ञान ने भाप के इंजन को इलेक्ट्रिक इंजन में बदल दिया है।

Read Also :-

पहले के समय में लोग साइकिल से यात्रा करते थे। लेकिन अब हर कोई मोटरसाइकिल और कारों से सफर करता है। इससे समय और मेहनत की बचत होती है। और यह सब विज्ञान की मदद से संभव है। विज्ञान हमें चाँद पर ले गया। यह सिलसिला यहीं खत्म नहीं होता है। इसने हमें मंगल की एक झलक भी दी। यह सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक है।

यह विज्ञान के कारण ही संभव हो पाया है। इन दिनों वैज्ञानिक कई उपग्रह बनाते हैं। जिससे हम हाई स्पीड इंटरनेट का इस्तेमाल कर पाते हैं। इसके बारे में जाने बिना भी ये उपग्रह दिन-रात पृथ्वी की परिक्रमा करते रहते हैं।

उपसंहार

विज्ञान हमारे समाज की रीढ़ है। आज के समय में विज्ञान ने हमें बहुत कुछ दिया है। इसके कारण हमारे स्कूलों में शिक्षक कम उम्र से ही विज्ञान पढ़ाते हैं। विज्ञान के बिना आज के जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती।

निबंध 2 (400 शब्द) – एक विषय के रूप में विज्ञान

विज्ञान पर निबंध : vigyaan par nibandh
विज्ञान पर निबंध : vigyaan par nibandh

प्रस्तावना

विज्ञान और प्रौद्योगिकी हमारे दैनिक जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। हम सुबह अलार्म बजने के साथ उठते हैं और रात को लाइट बंद करके सो जाते हैं। ये सभी विलासिता जो हम वहन करने में सक्षम हैं, वे विज्ञान और प्रौद्योगिकी का परिणाम हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि हम यह सब कम समय में करते हैं क्योंकि यह विज्ञान और प्रौद्योगिकी की प्रगति के कारण ही संभव हो पाया है।

विज्ञान विषय के रूप में

विज्ञान के महत्व का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अब विज्ञान ने कक्षा एक के बच्चों के पाठ्यक्रम में भी जगह बना ली है। यह विज्ञान है जो हमें हमारे सौर मंडल के बारे में सिखाता है। सौरमंडल में 8 ग्रह और सूर्य हैं। सबसे उल्लेखनीय यह है कि यह हमें हमारे ग्रह की उत्पत्ति के बारे में भी बताता है। सबसे बढ़कर, हम इस बात से इनकार नहीं कर सकते कि विज्ञान हमारे भविष्य को आकार देने में हमारी मदद करता है। लेकिन यह हमें न केवल हमारे भविष्य के बारे में बताता है, बल्कि यह हमें हमारे अतीत के बारे में भी बताता है।

जब छात्र कक्षा 6 में पहुंचता है, तो विज्ञान को तीन और उपश्रेणियों में विभाजित किया जाता है। ये उपश्रेणियाँ भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान हैं। सबसे पहले, भौतिकी ने हमें मशीनों के बारे में सिखाया। भौतिकी एक दिलचस्प विषय है। यह एक तार्किक विषय है।

दूसरी उपश्रेणी ‘रसायन विज्ञान’ है। रसायन विज्ञान एक ऐसा विषय है जो पृथ्वी के अंदर पाए जाने वाले तत्वों से संबंधित है। और यह विभिन्न उत्पादों को बनाने में मदद करता है। दवा और सौंदर्य प्रसाधन आदि जैसे उत्पादों से मानव लाभ होता है।



तीसरी उपश्रेणी, सबसे दिलचस्प ‘जीव विज्ञान’ है। जो हमें हमारे मानव शरीर के बारे में सिखाता है। यह हमें इसके विभिन्न भागों के बारे में बताता है। इसके अलावा यह छात्रों को सेल के बारे में भी सिखाता है। विज्ञान इतना उन्नत है कि उसने हमें यह भी बता दिया कि मानव रक्त में कोशिकाएं मौजूद होती हैं।

निष्कर्ष

विज्ञान की मदद से कई लाइलाज बीमारियों का इलाज संभव हुआ है। चिकित्सा के क्षेत्र में विज्ञान ने उल्लेखनीय प्रगति की है। विज्ञान ने आज वो संभव कर दिखाया है जिसकी पहले इंसान कल्पना भी नहीं कर सकता था। एक एक्स-रे मशीन इंसान के अंदर की तस्वीर लेती है। विज्ञान ने कितनी अद्भुत तकनीक विकसित की है।

निबंध 3 (500 शब्द) – विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लाभ

विज्ञान पर निबंध : vigyaan par nibandh
विज्ञान पर निबंध : vigyaan par nibandh

प्रस्तावना

विज्ञान और प्रौद्योगिकी ने हमें आधुनिक सभ्यता की स्थापना के लिए प्रेरित किया है। यह विकास हमारे दैनिक जीवन के लगभग हर पहलू में बहुत योगदान देता है। इसलिए, लोगों को इन परिणामों का आनंद लेने का मौका मिलता है, जो हमारे जीवन को और अधिक आराम और आनंददायक बनाते हैं।

विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लाभ

अगर हम इसके बारे में सोचें तो विज्ञान और प्रौद्योगिकी के कई फायदे हैं। इनमें छोटी-छोटी चीजों से लेकर बड़ी चीजें शामिल हैं। उदाहरण के लिए, सुबह का अखबार जो हम पढ़ते हैं, जो हमें विश्वसनीय जानकारी देता है, वह वैज्ञानिक प्रगति का परिणाम है। इसके अलावा, बिजली के उपकरण जिनके बिना जीवन की कल्पना करना मुश्किल है जैसे रेफ्रिजरेटर, एसी, माइक्रोवेव आदि उन्नत तकनीकी प्रगति का परिणाम हैं।

इसके अलावा, अगर हम परिवहन परिदृश्य को देखें, तो हम देखते हैं कि विज्ञान और प्रौद्योगिकी यहां भी एक प्रमुख भूमिका निभाते हैं। हम जितनी तेज़ी से पृथ्वी के दूसरे हिस्से तक पहुँच सकते हैं, यह सब तकनीक की उन्नत प्रकृति का परिणाम है।

इसके अलावा, विज्ञान और प्रौद्योगिकी ने मनुष्य को हमारे ग्रह से परे देखने में सक्षम बनाया है। नए ग्रहों की खोज और अंतरिक्ष में उपग्रहों की स्थापना काफी हद तक विज्ञान के कारण ही संभव हो पाई है।

इसी तरह, विज्ञान और प्रौद्योगिकी ने चिकित्सा और कृषि क्षेत्रों पर भी प्रभाव डाला है। रोगों के लिए खोजे जा रहे विभिन्न उपचारों ने विज्ञान के माध्यम से लाखों लोगों की जान बचाई है। इसके अलावा, प्रौद्योगिकी ने किसानों को बड़े पैमाने पर लाभान्वित करने वाली विभिन्न फसलों के उत्पादन में वृद्धि की है।

विज्ञान में अग्रणी वैज्ञानिक

अंत में इस दुनिया में थॉमस एडिसन, सर आइजैक न्यूटन जैसे कई वैज्ञानिक पैदा हुए। उन्होंने महान आविष्कार किए हैं। थॉमस एडिसन ने बल्ब का आविष्कार किया था। अगर उन्होंने इसका आविष्कार नहीं किया होता, तो आज पूरी दुनिया में अंधेरा छा जाता। इसी वजह से थॉमस एडिसन का नाम इतिहास में दर्ज हो गया।

एक अन्य प्रसिद्ध वैज्ञानिक सर आइजैक न्यूटन थे। सर आइजैक न्यूटन ने हमें गुरुत्वाकर्षण के बारे में बताया। इसकी मदद से हम कई अन्य सिद्धांतों की खोज करने में सक्षम थे।

अब्दुल कलाम भारत के एक वैज्ञानिक थे। उन्होंने हमारे अंतरिक्ष अनुसंधान और रक्षा बलों में बहुत योगदान दिया। उन्होंने कई उन्नत मिसाइलें बनाईं। इन वैज्ञानिकों ने बहुत अच्छा काम किया और हम उन्हें हमेशा याद रखेंगे।

इसी क्रम में एक बहुत ही सराहनीय कदम उठाते हुए इसरो के अध्यक्ष वैज्ञानिक के. सिवन के नेतृत्व में भारत ने चंद्रयान-2 मिशन के तहत पहले ही प्रयास में चंद्रमा पर अपना वाहन लॉन्च कर दिया. चूंकि हमें इसमें सफलता नहीं मिली, लेकिन यह भारत के लिए एक बड़ी उपलब्धि साबित हुई।

उपसंहार

वास्तव में अब हमारा अस्तित्व ही विज्ञान पर निर्भर है। हर दिन नई तकनीकें आ रही हैं जो मानव जीवन को आसान और अधिक आरामदायक बना रही हैं। इस प्रकार, हम विज्ञान और प्रौद्योगिकी के युग में रहते हैं।

इसके बाद, विज्ञान और प्रौद्योगिकी ने गणित, खगोल भौतिकी, अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी, परमाणु ऊर्जा और अन्य सहित विभिन्न क्षेत्रों को आगे बढ़ाने में मदद की है। इन विकासों के कुछ बेहतरीन उदाहरण रेलवे सिस्टम, स्मार्टफोन, मेट्रो सिस्टम आदि हैं।

निबंध 4 (600 शब्द) – विज्ञान के प्रकार

विज्ञान पर निबंध : vigyaan par nibandh
विज्ञान पर निबंध : vigyaan par nibandh

परिचय

विज्ञान की परिभाषा- विज्ञान प्रकृति में मौजूद चीजों का व्यवस्थित अध्ययन है। विज्ञान व्यवस्थित ज्ञान है जो अध्ययन, विचार, अवलोकन और प्रयोग से आता है। जो एक अध्ययन के विषय की प्रकृति को जानने के लिए किया जाता है। विज्ञान की मदद से हमारा जीवन आसान और आरामदायक हो गया है। विज्ञान द्वारा दिए गए उपकरणों के अभाव में आज हम अपना काम नहीं कर सकते, यहां तक ​​कि हमारा अस्तित्व भी मुश्किल हो सकता है। विज्ञान की देन से हमें गर्मी में आसमान के ऊंचे तापमान और इंसानों की ठंड से राहत मिलती है।

विज्ञान के प्रकार

प्राकृतिक  विज्ञान  – प्राकृतिक विज्ञान के अंतर्गत  प्राकृतिक और भौतिक संसार का व्यवस्थित ज्ञान होता है। इसके अंतर्गत निम्न विषयों का अध्ययन किया जाता है।

  • भौतिकी  – भौतिकी विज्ञान  की एक विशाल शाखा है, कुछ विद्वानों के अनुसार, ऊर्जा के परिवर्तन और तरल और प्राकृतिक दुनिया के घटकों और इसकी आंतरिक क्रियाओं का अध्ययन किया जाता है। जैसे अंतरिक्ष, समय, गति, पदार्थ, विद्युत, प्रकाश और ध्वनि आदि।
  • रसायन विज्ञान   विज्ञान  की वह शाखा है जो रासायनिक प्रतिक्रिया के दौरान होने वाले संगठन, संरचना, गुणों और परिवर्तनों के अध्ययन से संबंधित है। जिसका शाब्दिक अर्थ है- रस + अयान का अर्थ है रस (तरल पदार्थ) का अध्ययन।
  • खगोल विज्ञान    अंतरिक्ष और खगोलीय पिंडों के अध्ययन को खगोल विज्ञान कहा जाता है। प्राकृतिक विज्ञान से संबंधित अन्य विज्ञान भी हैं जैसे समुद्र विज्ञान, भूविज्ञान, पारिस्थितिकी, खगोल विज्ञान आदि।

जीवन विज्ञान –  जीवन विज्ञान के अंतर्गत सभी प्रकार के जंतुओं, पौधों और जंतुओं का अध्ययन किया जाता है। इससे जुड़ी प्रमुख शाखाएं इस प्रकार हैं।

  • जीव विज्ञान –  जीव विज्ञान के अंतर्गत हम जीवों, जीवन और जीवन की प्रक्रियाओं का अध्ययन करते हैं।
  • वनस्पति विज्ञान – इसमें  पेड़-पौधों से संबंधित अध्ययन किया जाता है।
  • जूलॉजी- जूलॉजी  के तहत जानवरों से संबंधित अध्ययन किया जाता है।

सामाजिक विज्ञान –  इस प्रकार के विज्ञान के अंतर्गत हम सामाजिक पद्धति और मानव व्यवहार का अध्ययन करते हैं। इसे अलग-अलग कैटेगरी में बांटा गया है।

  • इतिहास –  इस विषय के अंतर्गत हम घटनाओं के इतिहास का अध्ययन करते हैं।
  • राजनीति  विज्ञान –  सरकारी प्रणाली और राजनीतिक गतिविधियों का अध्ययन।
  • भूगोल –  पृथ्वी की भौतिक संरचना का अध्ययन।
  • अर्थशास्त्र    पैसे का अध्ययन।
  • सामाजिक  अध्ययन –  मानव समाज का अध्ययन।
  • समाजशास्त्र   समाज  के विकास और कार्यप्रणाली का अध्ययन।
  • मनोविज्ञान    मानव व्यवहार का अध्ययन।
  • नृविज्ञान –  मनुष्य के विभिन्न सामाजिक पहलुओं का अध्ययन।

औपचारिक  विज्ञान – विज्ञान  के इस भाग में हम औपचारिक प्रणाली जैसे गणित और तर्क आदि का अध्ययन करते हैं।

  • गणित    संख्याओं का अध्ययन।
  • रीजनिंग    लॉजिक का अध्ययन।
  • स्टैटिक्स –  संख्यात्मक डेटा के विश्लेषण से संबंधित विज्ञान। इसी तरह सिस्टम थ्योरी और कंप्यूटर साइंस आदि इसके अंतर्गत आते हैं।

निष्कर्ष

किसी वस्तु या विषय का व्यवस्थित अध्ययन, उस विषय का ज्ञान ही विज्ञान है। विज्ञान की सीमाएँ दूर-दूर तक फैली हुई हैं। उदाहरण के लिए, जीवन विज्ञान, प्राकृतिक विज्ञान, सामाजिक विज्ञान आदि। जो हमें घटनाओं के पीछे के कारण का ज्ञान देता है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!